Shani Dev Aarti Lyrics In Hindi शनि देव आरती - song-lyricslink: healthy food and lyrics

Latest

Thursday, 12 May 2022

Shani Dev Aarti Lyrics In Hindi शनि देव आरती


Shani Dev Aarti Lyrics | Shri Shani Dev Ji Ki Aarti Lyrics

Full Shani Dev Aarti Lyrics In Hindi शनि देव आरती लिरिक्स Shri Shani Dev Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi. यहाँ शनि देव आरती का चार लिरिक्स बताया गया है - 1. Jai jai shri shanidev bhaktan hitkari lyrics, 2. Jai shani deva jai shani deva lyrics, 3. Jai shani dev ji aarti lyrics, 4. Om jai shani dev hare aarti lyrics. 


॥1॥

Jai jai shri shanidev bhaktan hitkari lyrics | Shri Shani Dev Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi


जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।

सूर्य पुत्र प्रभु छाया महतारी॥

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।।


श्याम अंग वक्र-दृ‍ष्टि चतुर्भुजा धारी।

नी लाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।।


क्रीट मुकुट शीश राजित दिपत है लिलारी।

मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।।


मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी।

लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी॥

जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।।

देव दनुज ऋषि मुनि सुमिरत नर नारी।

विश्वनाथ धरत ध्यान शरण हैं तुम्हारी॥

जय जय श्री शनि देव भक्तन हितकारी।।


॥2॥

Jai shani deva jai shani deva lyrics | Shri Shani Dev Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi


जय शनि देवा, जय शनि देवा,

जय जय जय शनि देवा ।

अखिल सृष्टि में कोटि-कोटि जन,

करें तुम्हारी सेवा ।

जय शनि देवा, जय शनि देवा,

जय जय जय शनि देवा ॥


जा पर कुपित होउ तुम स्वामी,

घोर कष्ट वह पावे ।

धन वैभव और मान-कीर्ति,

सब पलभर में मिट जावे ।

राजा नल को लगी शनि दशा,

राजपाट हर लेवा ।

जय शनि देवा, जय शनि देवा,

जय जय जय शनि देवा ॥


जा पर प्रसन्न होउ तुम स्वामी,

सकल सिद्धि वह पावे ।

तुम्हारी कृपा रहे तो,

उसको जग में कौन सतावे ।

ताँबा, तेल और तिल से जो,

करें भक्तजन सेवा ।

जय शनि देवा, जय शनि देवा,

जय जय जय शनि देवा ॥


हर शनिवार तुम्हारी,

जय-जय कार जगत में होवे ।

कलियुग में शनिदेव महात्तम,

दु:ख दरिद्रता धोवे ।

करू आरती भक्ति भाव से,

भेंट चढ़ाऊं मेवा ।

जय शनि देवा, जय शनि देवा,

जय जय जय शनि देवा ॥


॥3॥

Jai shani dev ji aarti lyrics | Shani Dev Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi


चार भुजा तहि छाजै,

गदा हस्त प्यारी ।

जय शनिदेव जी ॥


रवि नन्दन गज वन्दन,

यम अग्रज देवा ।

कष्ट न सो नर पाते,

करते तब सेवा ॥

जय शनिदेव जी ॥


तेज अपार तुम्हारा,

स्वामी सहा नहीं जावे ।

तुम से विमुख जगत में,

सुख नहीं पावे ॥

जय शनिदेव जी ॥


नमो नमः रविनन्दन,

सब ग्रह सिरताजा ।

बन्शीधर यश गावे,

रखियो प्रभु लाजा ॥

जय शनिदेव जी ॥


॥4॥

Om jai shani dev hare aarti lyrics In Hindi | Shani Dev Aarti Lyrics in Hindi


ॐ जय शनि देव हरे प्रभु जय शनि देव हरे,

सकल विश्व के संकट क्षण में दूर करे,

ॐ जय शनि देव हरे।


तुम करुणामय स्वामी विश्व विदित देवा,

भक्त हितों के रक्षक तनिक पायें सेवा,

ॐ जय शनि देव हरे।


सूर्य पुत्र भय काल मिटाओ सबके सुख राशि,

दुःख दारिद्र  विनाशक तुम चहुँ दिश वासी,

ॐ जय शनि देव हरे।


दीन बंधू अति द्रवित दयामय सबके प्राण पति,

प्रभु सदमार्ग दिखाओ करो दूर कुमति,

ॐ जय शनि देव हरे।


तुम सर्वत्र विराजे तुम अन्तर्यामी,

महाकाल भय हारी तुम सबके स्वामी,

ॐ जय शनि देव हरे।


मात पिता बंधू तुम सब कुछ हो मेरे,

पूर्ण कृपा बरसाओ द्वार पड़ा तेरे,

ॐ जय शनि देव हरे।


हो एकाग्र चित्त प्रभु दया दृष्टि कीजे,

परम भक्ति कृपा कारी संकट हर लीजे,

ॐ जय शनि देव हरे।


होये मनोरथ सुफल भक्तों की नैया पार करो,

चरण पड़ा प्रभु तेरे सर पे हाथ धरो,

ॐ जय शनि देव हरे।


श्री शनि देव कृपा कारी  दूर अज्ञान करो,

बजरंग चिंता हारी भक्तों पे कृपा करो,

ॐ जय शनि देव हरे।


Shani Dev Aarti Lyrics In Hindi शनि देव आरती


No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.